//Bruce Lee – Chinese-American Martial Artist, Actor And Director / ब्रूस ली
Bruce Lee biography in hindi

Bruce Lee – Chinese-American Martial Artist, Actor And Director / ब्रूस ली

Bruce Lee biography in hindi – “कठिन मेहनत में कोई बुराई कोई नहीं है, परंतु तकदीर उसके कदम चूमती है जो वह करने की हिम्मत व सोच रखता है, जो अभी तक किसी ने ना किया हो।”

ब्रूस ली मार्शल आर्ट की दुनिया का एक ऐसा नाम है जिससे शायद ही कोई अनजान हो। मार्शल आर्ट की जब भी बात की जाती है तो ब्रूसली का नाम सबसे पहले लिया जाता है। आज भी मार्शल आर्ट के चाहने वालों में ब्रूस ली का दर्जा किसी भगवान से कम नहीं है। ब्रूस ली ने बहुत कम उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था लेकिन उन्होंने मेहनत, अपनी कला और विलक्षण प्रतिभा से पूरी दुनिया में अपना नाम किया। ब्रूस ली जो अपने बिजली जैसे फुर्ती और खतरनाक तेज किक से, सेकंड में किसी को भी धूल चटा सकते थे। ब्रूस ली मार्शल आर्ट के बादशाह थे। उनके जैसा मार्शल आर्ट का हुनर बाज उनके बाद आज तक कोई पैदा ही नहीं हुआ। मार्शल आर्ट के बादशाह होने के साथ ही साथ वह हॉलीवुड फिल्मों के बहुत बड़े स्टार थे। उन्होंने बहुत सारी सुपरहिट फिल्में भी दी। ब्रूस ली की मृत्यु 32 वर्ष की बहुत कम उम्र में हो गई थी। लेकिन उन्होंने एक छोटी सी उम्र में इतना कुछ कर दिखाया जो किसी और के बस की बात नहीं है।

कहा जाता है कि ब्रूस ली की किक की स्पीड इतनी तेज होती थी कि फिल्म की शूटिंग के बाद उनके फाइटिंग सीन की गति को धीरे करना पड़ता था ताकि स्क्रीन पर यह न लगे कि ब्रूस ली नकली एक्टिंग कर रहे हैं। किसी भी आम इंसान का इतनी स्पीड से हाथ पैर चलना संभव ही नहीं था। ब्रूसली किसी को भी 3 फीट दूर खड़े होने के बावजूद 0.0 5 सेकंड में पंच मार कर गिरा सकते थे जो कि अपने आप में एक अद्भुत टैलेंट था। ब्रूस ली भारत के गामा पहलवान के बहुत बड़े प्रशंसक थे। गामा पहलवान दुनिया के इकलौते पहलवान थे जिन्हें पूरी जिंदगी कोई भी मात नहीं दे पाया था। उन्होंने अपनी बॉडी पत्थर के डंबल और औजारों से बनाई थी। उनके जैसा पहलवान भारत को अभी तक नहीं मिल सका।

ब्रूस ली का जन्म 27 नवंबर 1940 को सैन फ्रांसिस्को के चाइना टाउन में हुआ था। ब्रूसली का वास्तविक नाम “Jun Fan Lee” था। ब्रूस नाम उन्हें हॉस्पिटल की नर्स ने दिया था जहां वह पैदा हुए थे। उनके पिता का नाम “Lee Hoi Chuen” था जो कि एक चीनी थे और उनकी मां का नाम “Catholic” था। ब्रूस ली के पैदा होने के कुछ महीनों के बाद ही उनके पिता पूरे परिवार के साथ अपने जन्मस्थान हांगकांग वापस आ गए ब्रूस ली के पिता एक “Opera singer” और “actor” थे। Opera एक तरह का नाटकीय संगीत है मतलब इसमें कुछ लोग का ग्रुप एक्टिंग करते हुए गाना गाते हैं। इस तरह के संगीत को यूरोपियन कंट्रीज में बहुत पसंद किया जाता है। उनके पिता के ओपेरा स्टार होने की वजह से 3 महीने की आयु में ही ब्रूस ली को “Golden Gate Girl” नाम के एक फिल्म में बच्चे का किरदार मिला और उनका फिल्मी सफर मात्र 3 महीने के छोटी सी उम्र से शुरू हो गया। देखते ही देखते 16 साल की उम्र तक उन्होंने 20 से ज्यादा फिल्मों में काम कर लिया था।

ब्रूस ली ने अपनी शुरू की पढ़ाई पास के ही एक स्कूल से की। जब ब्रूस ली 16 साल के थे तो उन दिनों उनके शहर में कुछ गुंडे आकर बस गए थे जो कि आम लोगों को बहुत परेशान किया करते थे इसीलिए उन्होंने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए 16 साल की उम्र में मार्शल आर्ट का हुनर सीखना शुरू कर दिया। उन्होंने “Yip Man” नाम के ट्रेनर से ट्रेनिंग ली जो कि एक जाने-माने ट्रेनर थे, जिन्होंने “Wing Chun” नाम के मार्शल आर्ट की अद्भुत टेक्निक ब्रूस ली को सिखाई। मार्शल आर्ट के नॉलेज होने के बाद ब्रूस ली को गुंडों से लड़ने का शौक हो गया था, जिसकी वजह से उनके पिता बहुत परेशान रहते थे और ना चाहते हुए भी उन्होंने ब्रूस ली को अमेरिका भेज दिया। वहां जाकर अपने खर्चों के लिए ब्रूसली ने लोगों को मार्शल आर्ट दिखाना शुरू किया। ब्रूस ली ने 20 साल की उम्र में कुछ पैसे जुटाकर “यूनिवर्सिटी ऑफ वाशिंगटन” में एडमिशन ले लिया और वहां भी उन्होंने स्टूडेंट्स को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी।

इसी बीच ब्रूस ली की मुलाकात “लिंडा एवरी” से हुई और वह लिंडा को अपना दिल दे बैठे। अगस्त 1964 में उन्होंने शादी कर ली है। ब्रूस ली और लिंडा के दो बच्चे “ब्रेंडन ली” और “शनल ली” है । ब्रेंडन बड़े होकर अपने पिता की तरह एक एक्टर बने। दुर्भाग्यवश 1993 “The Crew” फिल्म की शूटिंग के समय, गलती से ब्रेंडन को बंदूक की गोली लग गई जिससे उनकी मृत्यु हो गई। शनल ली भी एक अभिनेत्री बनी और 1990 के समय तक उन्होंने कुछ फिल्मों में काम किया लेकिन अपने भाई ब्रेंडन की मृत्यु के पश्चात उन्होंने एक्टिंग करनी छोड़ दी।

ब्रूस ली ने 1969 में लॉस एंजेल्स के चाइना टाउन में मार्शल आर्ट सिखाने के लिए एक ट्रेनिंग सेंटर खोला , जहां वह बड़े-बड़े अभिनेताओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दिया करते थे। उसी साल उन्होंने “Marlowe” नाम की फिल्म में एक्टर के तौर पर काम किया था। लेकिन वह अभी अपनी एक्टिंग के लिए मशहूर नहीं हुए थे। उनकी पहली बड़ी फिल्म 1971 में आई जिसका नाम “BIG BOSS” था जो कि एक चाइनीस फिल्म थी जिसमें उन्होंने lead रोल किया था इस फिल्म से ब्रूस ली की पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हो गए। उसके बाद देखते ही देखते ब्रूस ली ने एक्टिंग की दुनिया में बड़ी सफलता हासिल कर ली। “THE WAY OF THE DRAGON” जैसी सुपरहिट फिल्में दी।

ब्रूसली को किताबें पढ़ने का बहुत शौक था। लोग कहते हैं कि बुलंदी पर पहुंचने के बाद उन्हें नशीली दवाओं के सेवन का शौक पैदा हो गया था। उन्होंने अपने आपको मार्शल आर्ट का संपूर्ण गुरु बनाने की सनक में जरूरत से ज्यादा अभ्यास करना शुरू कर दिया जिससे उनकी दिमाग की नसें कमजोर पड़ गई थी। 20 जुलाई 1973 की शाम ब्रूस ली के सिर में हल्का सा दर्द हुआ, उन्होंने दर्द की दवा ली और थोड़े ही देर में वह बेहोश हो गए। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी बेहोशी फिर कभी नहीं टूटी। यह मार्शल आर्ट का बादशाह 32 साल की कम उम्र में ही इस दुनिया को अलविदा कह गया।

ब्रूस ली का कहना था यदि आप किसी चीज के बारे में सोचने में बहुत अधिक समय लगाते हैं, तो आप उसे कभी नहीं कर पाएंगे।