//Elon Musk – Founder, Lead Designer of SpaceX CEO, Product Architect Tesla / एलॉन मुस्क
Elon Musk biography in hindi

Elon Musk – Founder, Lead Designer of SpaceX CEO, Product Architect Tesla / एलॉन मुस्क

Elon Musk biography in hindi – “खुद वो बदलाव बनिए जो दुनिया में आप देखना चाहते हैं।”

यह वाक्य आज से सालों पहले महात्मा गांधी ने कहे थे और इन वाक्यों को हकीकत में “एलॉन मुस्क” ने बदला है।

एलॉन मुस्क अफ्रीकी मूल के निवेशक, इंजीनियर और बिजनेसमैन है। आज के समय में वह पूरी दुनिया में अपनी दूरगामी सोच की वजह से काफी प्रसिद्धि पा चुके हैं। एलॉन मुस्क की सोच हमेशा से ही इंसानों की परेशानियों को दूर करने पर केंद्रित रही है। Forbe के अनुसार -एलॉन मुस्क दुनिया के प्रथम सबसे धनी व्यक्ति हैं। लेकिन कोई भी व्यक्ति जन्म से अमीर नहीं होता, यहां तक इस पहुंचने के लिए न जाने कितनी मेहनत करनी पड़ती है। एलॉन मुस्क ने बचपन से ही काफी मेहनत की और बहुत सारे संघर्षों के बाद लाखों युवाओं के लिए एक उदाहरण बन चुके हैं।

एलॉन मुस्क का जन्म साउथ अफ्रीका के “प्रीटोरिया” शहर में 28 जून 1971 को हुआ। उनके पिता का नाम “Errol Musk” था और वह एक इंजीनियर होने के साथ-साथ एक पायलट भी थे। उनकी मां का नाम “मैरी मुस्क” था, जो एक मॉडल और डायटिशियन थी। एलॉन मुस्क बचपन से ही पढ़ने में काफी दिलचस्पी रखते थे और हमेशा ही किताबों के आसपास देखे जाते थे। 10 साल की उम्र में उन्हें कंप्यूटर से भी काफी लगाव हो गया था। 12 साल की छोटी सी उम्र में उन्होंने कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीख कर एक “Blaster” नामक game बना डाला। जिसे उन्होंने $500 की कीमत पर “PC and office” नाम की कंपनी को बेच दिया और यहीं से उनकी प्रतिभा साफ-साफ झलकने लगी थी। वह बचपन में “Isaac Asimov” की किताबें पढ़ा करते थे और यहीं से उनको टेक्नोलॉजी के प्रति लगाव हो गया था।

बचपन में एलॉन मुस्क को स्कूल में बहुत परेशान किया जाता था। एक बार तो कुछ लड़कों के ग्रुप ने, उनको सीढ़ियों से धक्का दे दिया और उनको तब तक मारा, जब तक वह बेहोश नहीं हो गए। इसके लिए उन्हें कई दिनों तक हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ा था। बचपन में इतनी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा परंतु उन्होंने मानवता के हित में काफी सराहनीय काम किए। 17 साल की उम्र में एलॉन मुस्क ने यूनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। वहां पर 2 साल पढ़ने के बाद वह “यूनिवर्सिटी आफ पेंसिलवेनिया” चले गए। जहां उन्होंने 1995 में, “Physics” में “Bachlor of Science” की डिग्री ली। 1995 में एलॉन मुस्क PHD करने के लिए कैलिफोर्निया चले गए, लेकिन वहां पर रिसर्च करने के मात्र 2 दिन के अंदर ही उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी और एक सफल व्यापारी बनने के लिए अपने कदम आगे बढ़ा लिए।

आज एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उनकी कुल संपत्ति 185 बिलियन डॉलर यानी करीब 1 खरब $85 अरब डॉलर को पार कर गई है। कंपनी ने शेयर की कीमतों में उछाल के बाद, कुल संपत्ति के मामले में वह पहले पायदान पर पहुंच गए। यह जगह एलॉन मुस्क ने “Amazon” के संस्थापक “जैफ बेजॉस” को पीछे छोड़कर हासिल की है। जैफ बेजॉस साल 2017 से इस स्थान पर थे। एलॉन मुस्क की इलेक्ट्रिक कार “Tesla” कंपनी ने इस साल अपनी मार्केट वैल्यू में काफी वृद्धि की है। जनवरी 2021 को यह पहली बार 700 बिलियन डॉलर तक पहुंच गई। जो कार टोयोटा, फॉक्सवैगन ,जीएम और फोर्ड की कुल मार्केट वैल्यू से भी अधिक है।

अमेरिका के कई आर्थिक विश्लेषकों ने लिखा है कि अमेरिका में सत्ता बदलने के बाद एलन मस्क की कंपनी का भविष्य और भी सुनहरा हो सकता है। उनका मानना है कि “democratic” के आने से इलेक्ट्रिक कंपनी tesla का काम और भी बढ़ेगा क्योंकि Biden और उनकी पार्टी ने चुनाव अभियान के दौरान Green Agenda को बढ़ावा देने के लगातार वादे किए थे। एलन मस्क के काम का दायरा सिर्फ भविष्य की कारें बनाने वाली कंपनी तक सीमित नहीं है। उनकी कंपनी Tesla इलेक्ट्रिक कारों में लगने वाले पुर्जे और बैटरीया बनाती है, जिन्हें दूसरे कार निर्माताओं को बेचा जाता है। वह घरों में लगने वाले “Solar Energy System” बनाते हैं, जिसकी मांग वक्त के साथ बढ़ी है। वह एक अंतरिक्ष अन्वेषण कंपनी भी चलाते हैं। वे अमेरिका में “Superfast Underground Transport System” का खाका तैयार कर रहे हैं। आज के समय में एलॉन मुस्क की पहचान एक अमेरिकी उद्यमी के तौर पर है।

49 वर्ष के एलॉन मुस्क की बिजनेस की शुरुआत असल में साल 1999 में हुई, जब उन्होंने और उनके भाई ने अपनी सॉफ्टवेयर कंपनी “zip 2” के लिए एक सफल डील तलाशी ली। इस से मिले पैसे को 27 साल की उम्र में, एलॉन मुस्क ने पहली व्यापारिक उपलब्धि को एक नई कंपनी में लगाया जिसका नाम “x.com” था और इस कंपनी का दावा था है कि वह पैसा ट्रांसफर करने की व्यवस्था में क्रांति लाने वाली है। मस्क की इसी कंपनी को आज भी “PayPal” के नाम से जाना जाता है। जिसे साल 2002 में “Ebay” ने खरीद लिया था और इसके लिए एलॉन मुस्क को 165 मिलियन डॉलर मिले थे। यह उनके करियर की बड़ी उपलब्धि थी। इसके बाद एलॉन मुस्क ने अंतरिक्ष अन्वेषण की तकनीकों पर काम करना शुरू किया, उन के इसी प्रोग्राम को “Space x” का नाम दिया गया और कहा गया कि मनुष्य आने वाले वक्त में दूसरे ग्रहों पर भी रह सकेंगे। साल 2004 में एलॉन मुस्क ने इलेक्ट्रिक कार कंपनी “Tesla” की बुनियाद रखी और उन्होंने कहा भविष्य में सब कुछ इलेक्ट्रिक होगा।

कुछ साल पहले हुए इस इंटरव्यू में मस्क ने कहा था मैं नहीं जानता कि मेरे पास कितनी संपत्ति है। इस तरह से नहीं है कि कहीं नोट के बंडल पड़े हुए हैं। इसको ऐसे देखना चाहिए कि “Tesla space x solar city” में मेरी हिस्सेदारी है और बाजार में उस हिस्सेदारी की कुछ कीमत है। परंतु मुझे वाकई इससे फर्क नहीं पड़ता क्योंकि मेरे काम करने का लक्ष्य यह नहीं है। Rollet लिखते हैं कि एलॉन मुस्क का यह नजरिया शायद काम कर रहा है। उनके पास आज जितनी संपत्ति है उसमें चाहे तो एलॉन मुस्क दुनिया की कई बड़ी कार निर्माता कंपनियों को, एक साथ खरीद सकते हैं।

एलॉन मुस्क इस साल 50 साल के हो जाएंगे पर एक दौलतमंद शख्स के तौर पर दुनिया को अलविदा कहने का उनका सपना नहीं है। मस्क कहते हैं– कि वह मंगल ग्रह पर एक “बेस” बनाने में अपनी पूंजी का सबसे बड़ा हिस्सा लगाना चाहते हैं और उन्हें कोई आश्चर्य नहीं होगा अगर उन्होंने इस मिशन को सफल बनाने में अपनी सारी पूंजी लगा दी। मंगल ग्रह पर मनुष्यों का बेस एलॉन मुस्क की नजर में एक बहुत बड़ी सफलता होगी। वे मानते हैं कि इससे भविष्य बेहतर होगा। “space x” की स्थापना को लेकर भी BBC से हुए इंटरव्यू में मस्क ने कहा था कि मैं इस बात से असंतुष्ट था कि अमेरिकी स्पेस एजेंसी, अंतरिक्ष अन्वेषण को लेकर और महत्वाकांक्षी क्यों नहीं है ?और वह क्यों आगे का नहीं सोच पा रही ? मैं उम्मीद करता हूं कि भविष्य में चांद और मंगल ग्रह पर हमारा बेस हो और वहां के लिए लगातार फ्लाइट चलें।

एलॉन मुस्क चाहते हैं कि लोग उन्हें एक निवेशक से ज्यादा एक इंजीनियर के रूप में जाने। रौलट से होने वाले इंटरव्यू में उन्होंने कहा था “मैं हर सुबह किसी नई तकनीकी समस्या का हल ढूंढने के लिए उठना चाहता हूं। बैंक में कितना पैसा है इसे में सफलता का पैमाना नहीं मानता।” एलॉन मुस्क कार बनाने के उद्योग में क्रांतिकारी बदलाव लाना चाहते हैं। वह मंगल ग्रह पर कॉलोनी बनाना चाहते हैं। वह कीम चैनल में चलने वाली सुपरफास्ट ट्रेनें चलाना चाहते हैं। मनुष्य के दिमाग से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को जोड़ना चाहते हैं और सौर ऊर्जा से दुनिया चलाना चाहते हैं।

एलॉन मुस्क का बचपन दक्षिण अफ्रीका में बहुत सारी पत्रिकाएं किताबें पढ़कर और फिल्म देखकर गुजरा। वह बदलाव की धीमी गति में विश्वास नहीं रखते हुए जल्द से जल्द जीवाश्म ईंधन को पीछे छोड़ देना चाहते हैं। मानवता के अस्तित्व को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए वह मंगल ग्रह पर उपनिवेश विकसित करने के पक्षधर है। एलॉन मुस्क जोखिम उठाने वाले शख्स हैं और उन्होंने यह साबित भी किया है। 2008 में जब दुनिया ने आर्थिक मंदी का सामना किया तो उनकी हालत भी काफी खराब हो गई थी। इसके बाद उनकी नई कंपनियों ने कई असफलताएं देखी। Space- x के पहले तीनों लॉन्च फेल हुए। Tesla मे भी उत्पादन से जुड़ी कई समस्याएं आती रहें और एलॉन मुस्क तंगी में फस गए। अपने एक साक्षात्कार में एलॉन मुस्क ने बताया था कि एक वक्त ऐसा भी आया जब उन्हें अपने दोस्तों से पैसे उधार लेने पड़े। परंतु उन्हें अपने दिवालिया होने का डर नहीं हुआ। वह कहते थे कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा, मेरे बच्चों को सरकारी स्कूल में जाना पड़ेगा, तो इसमें क्या बड़ी बात होगी। मैं भी तो स्कूल में पढ़ा हूं।

रौलट लिखते हैं- हमारी मुलाकात के दौरान मैंने पाया था कि एलॉन मुस्क आलोचनाएं से जरूर निराश थे। उनका कहना था कि आलोचनाएं किसी आधार पर होनी चाहिए। परंतु यहां तो लोग खुले तौर पर “Tesla” के डूबने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे आलोचनाओं की वजह से अपने इरादों में कभी बदलाव नहीं करते। एलॉन मुस्क के मुताबिक जब उन्होंने space- x और Tesla की नींव रखी थी तब उन्हें खुद विश्वास नहीं था कि वह इस से पैसा कमा सकेंगे। एलॉन मुस्क को करीब से जानने वाले कहते हैं कि उन्हें काम करने की लत है। “Tesla-3” को तैयार करते समय उन्होंने कहा था कि वह हफ्ते में 120 घंटे काम करते हैं और उसमें उन्हें मजा आता है।

कोरोना महामारी के दौरान जब Sanfrancisco मे स्थित उनकी फैक्ट्री को बंद करना पड़ा, तो मुस्क “Lock Down” प्रतिबंधों के खिलाफ खुलकर बोले, उन्होंने कहा -जो लोग महामारी को हव्वा बना रहे हैं वह बेवकूफ है। उन्होंने घर में रहने के आदेशों को जबरदस्ती बताया और कहा कि lock down संवैधानिक आधारों के खिलाफ है।

महामारी के दौरान ही एलॉन मुस्क के घर पुत्र का जन्म हुआ। इस मौके पर उन्होंने ट्विटर के जरिए दुनिया को बताया कि उन्होंने बेटे का नाम “Axe A12” रखा है। कुछ लोग मानते हैं कि एलॉन मुस्क के मन को पढ़ा नहीं जा सकता और उनके व्यवहार का पूर्वानुमान लगाना मुश्किल है, लेकिन इसका उनके काम पर जरा भी असर नहीं दिखता। वह एक उद्यमीदूरदर्शी इंसान है। सितंबर 2020 में उन्होंने कहा कि जल्द ही उनकी कंपनी की सभी कारें self-driving वाली होगी अगले 3 वर्षों में सस्ती इलेक्ट्रिक कार लाने का भी इरादा रखते हैं।

You may also like:

Joseph Robinette Biden biography in hindi

Colonel Harland Sanders biography in hindi