//Larry Page – American Computer Scientist and Internet Entrepreneur / लैरी पेज
Larry

Larry Page – American Computer Scientist and Internet Entrepreneur / लैरी पेज

गूगल आज की कंपनियों में से सबसे सफल कंपनी में से एक है।  गूगल के Co- Founder लैरी पेज (Larry Page) सबसे सफल व्यवसायियों की गिनती में गिने जाते हैं। 
“Larry Page” ने “Sergey Brin” के साथ मिलकर गूगल जैसा  सर्च इंजन बनाया। इस खोज के जरिए उन्होंने हमारी जिंदगी बहुत ही आसान कर दी।

 लैरी पेज (Larry Page) का जन्म 26 मार्च 1973 को अमेरिका के “Michigan” में हुआ था।  उनके पिता का नाम Karl Victor और मां का नाम “Cloria” था।  वह दोनों ही “State University” में कंप्यूटर साइंस के अध्यापक थे।
 लैरी पेज (Larry Page) के घर पर कंप्यूटर साइंस से संबंधित मैगजीन व वह सामान रहते थे और इसी वातावरण में पले बढ़े होने की वजह से लैरी पेज को बचपन से कंप्यूटर में काफी रूचि हो गई थी। 
लैरी पेज (Larry Page) ने बहुत छोटी सी उम्र में  चीजों को खोलकर समझना शुरू कर दिया था। वह यह जानना चाहते थे कोई भी चीज काम कैसे करती है।
उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया कि मैंने बहुत छोटी सी उम्र से यह महसूस करना शुरू कर दिया था कि मैं चीजों का आविष्कार करना चाहता हूं और जब मैं 12 वर्ष का था तभी मैंने सोच लिया था कि मैं एक बिजनेसमैन बनूंगा।
जिसके बाद से मुझे Business World के बारे में जानने के लिए दिलचस्पी  होने लगी।

लैरी पेज (Larry Page) की शुरुआती पढ़ाई एक मोंटेसरी स्कूल से हुई। इसके बाद उन्होंने 1979 में “Eastland School” से अपनी ग्रेजुएशन पूरी की।
“Stand ford University” से Post Graduation पूरी करने के बाद वहीं से PHD करने लगे।  जहां पर उनकी मुलाकात गूगल के मौजूदा Co- founder “Sergey brin” से हुई।

Larry Page और Sergey brin दोनों ने अपना रिसर्च टॉपिक “World Wide Web” को चुना।
वह दोनों “S L  Algorithm” की खोज में लग गए। जिससे सभी वेबसाइट को एक साथ लिंक किया जा सके और उनकी  Popularity  के आधार पर उनके Pages को रैंकिंग दी जा सके।
अगले 4 साल तक दिन रात एक कर उन्होंने 4 सितंबर 1996 को SL Algorithm खोजने में सफल हो गए।

 गूगल का नाम गणित के शब्द “Gogol” से लिया गया है।  इसका अर्थ होता है एक अंक के आगे 100 शून्य। पहली बार जिस गूगल  को लांच किया गया था वह “Stand ford University”  वेबसाइट पर अभी भी उपलब्ध है।

लैरी पेज (Larry Page) ने आगे चलकर अपने परिवार, दोस्तों और निवेशकों से $1000000 का कर्ज लेकर 1998 में “google.inc” की स्थापना की और अपने Unique Concept और Algorithm की वजह से गूगल बहुत जल्द दुनिया का सबसे लोकप्रिय सर्च इंजन बन गया। 
यहां से Larry Page  और  Sergey Brin ने  कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

2004  में गूगल का “IPO” शेयर मार्केट में उतारा गया। जहां पर लोगों ने जमकर गूगल के  शेयर खरीदे।  इस तरह गूगल निवेशक की सबसे बड़ी  कंपनी बन गई। गूगल को बनाने वाले लैरी पेज और सर ग्रीन सबसे छोटे बिलेनियर बन गए ।
14 नवंबर 2006 को गूगल ने  सबसे लोकप्रिय और बड़ी वीडियो लाइब्रेरी “यूट्यूब” का अधिग्रहण किया।
इसके अलावा 30 अप्रैल 2009 को गूगल द्वारा पहला “एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम” लॉन्च किया गया। जो इस समय दुनिया के अरबों खरबों मोबाइल फोन पर छाया हुआ है।
गूगल सर्च इंजन, जीमेल, गूगल ट्रांसलेट, गूगल प्लस, गूगल क्रोम जैसे 50 से भी ज्यादा प्रोडक्ट, गूगल के पास उपलब्ध है।

गूगल का हेड ऑफिस कैलिफोर्निया के सिलिकॉन वैली में है। अगर मौजूदा समय की दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति की बात करें तो लैरी पेज#12 नंबर पर है।
 8 दिसंबर 2007 को Larry Page ने “Lusinda Southworth”  शादी कर ली। Lusinda Southworth एक रिसर्च साइंटिस्ट है। लूसीना से उनके दो बच्चे भी हैं।
 Larry Page व Sergey Brin की दिन-रात की मेहनत का ही फल है कि आज दुनिया भर में ज्यादातर लोग इंटरनेट की शुरुआत गूगल से करते हैं। इंटरनेट के क्षेत्र में उनके योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।

You may also like:

Biography of Alfred Nobel in hindi

Leonardo Da Vinci Facts

About Stephen Hawking in Hindi