//Samantha Akkineni – Indian Actress / समांथा अक्कीनेनी
Samantha Akkineni biography in hindi

Samantha Akkineni – Indian Actress / समांथा अक्कीनेनी

Samantha Akkineni biography in hindi – साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री ने इतनी तेजी से तरक्की की है कि आज साउथ की फिल्म केवल साउथ में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में पसंद की जाने लगी है। समांथा अक्कीनेनी इस फिल्म इंडस्ट्री की एक ऐसी एक्ट्रेस है जिनके चाहने वाले आज पूरे भारत में हैं। यही वजह है कि समांथा साउथ इंडियन सिनेमा की टॉप एक्ट्रेस है और लोग उनको बहुत ज्यादा पसंद करते हैं। आज भले ही समांथा कामयाबी की बुलंदियों को छू रही हैं लेकिन एक मध्यम परिवार की साधारण सी लड़की का इस मुकाम तक पहुंचने का सफर काफी मुश्किलों और मुसीबतों से भरा हुआ रहा है।

समांथा आज तमिल और तेलुगु दोनों ही फिल्म इंडस्ट्री में एक टॉप एक्ट्रेस के तौर पर जानी जाती है। वह एक ऐसी एक्ट्रेस हैं जिनकी एक्टिंग से ज्यादा लोग उनकी खूबसूरती के दीवाने हैं। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है यह समानता को एक्टिंग करने नहीं आती बल्कि उनकी एक्टिंग तो इतनी जबरदस्त है कि वह अपनी शानदार एक्टिंग से अपने हर एक किरदार के अंदर जान डाल देती हैं। यह इनके बेहतरीन एक्टिंग का ही नतीजा है कि वह कई अलग-अलग अवार्ड जीतने के साथ ही चार “फिल्म फेयर अवार्ड” (Filmfare Awards )भी अपने नाम कर चुकी है। 2010 में समांथा की एक्टिंग करियर की शुरुआत हुई थी लेकिन समांथा को इससे पहले अपने करियर में काफी स्ट्रगल करना पड़ा था।

समांथा का जन्म 28 अप्रैल 1987 को तमिलनाडु के “चेन्नई” शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम “जोसेफ प्रभु” हैं जो कि तेलुगु राज्य से आते हैं जबकि उनकी मां का नाम “नींनैती” है और यह मलयालम ओरिजन से ताल्लुक रखती हैं। माता-पिता के अलावा उनके परिवार में उनके दो बड़े भाई “जोनाथन” और “डेविड” भी हैं। समांथा अपने परिवार में सबसे छोटी हैं और अपने माता-पिता के अलग-अलग रीजनल बैकग्राउंड से ताल्लुक रखने के बावजूद खुद को एक तमिलियन मानती है। समांधा का शुरुआती जीवन अपने ननिहाल यानी कि केरला के “ALAPPUZHA” में गुजरा। लेकिन थोड़े समय यहां रहने के बाद ही उनका परिवार चेन्नई के “पल्लवरम” में शिफ्ट हो गया। समांथा का परिवार लोअर मिडिल क्लास हुआ करता था और उनका फिल्मी इंडस्ट्री से दूर-दूर तक कोई भी संबंध नहीं था। समांथा ने यह कभी नहीं सोचा था कि वह आगे चलकर इतनी बड़ी एक्ट्रेस बन जाएंगी। उनके शुरुआती पढ़ाई चेन्नई के “होली एंजेल्स एंगलो इंडियन हायर सेकेंडरी स्कूल” में हुई थी। स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने चेन्नई के “स्टेला मैरिज कॉलेज” में कॉमर्स से डिग्री हासिल करने के लिए एडमिशन ले लिया था। समांथा शुरुआत से ही एक होनहार विद्यार्थी रही थी और उनका नाम स्कूल और कॉलेज दोनों ही जगहों पर टॉप में रहता था। उन्हें उम्मीद थी कि डिग्री हासिल करने के बाद उन्हें कोई ना कोई नौकरी जरूर ही मिल जाएगी और इस तरह नौकरी करके अपनीअपने परिवार का आर्थिक रूप से सहारा बने गी। समांथा की कॉलेज की पढ़ाई अभी पूरी हुई नहीं थी कि उनके परिवार की आर्थिक स्थिति और भी ज्यादा खराब होने लगी और यहां समांथा चाह कर भी, अपनी फैमिली को आर्थिक तौर पर मदद नहीं कर पा रही थी। फिर एक दिन बातों बातों में ही उनके किसी मित्र ने सुझाव दिया कि उन्हें मॉडलिंग में कोशिश करनी चाहिए। परिवार की स्थिति काफी नाजुक थी इसलिए समांथा ने अपनी दोस्त की बात मानकर, मॉडलिंग करने का मन बना लिया और फिर कुछ ट्रायल और छोटे-मोटे फोटोशूट होने के बाद से उन्हें काम मिलना भी शुरू हो गया।

साल 2005 उनके मॉडलिंग करियर की शुरुआत हुई थी। उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ समांथा ने अतिरिक्त समय में मॉडलिंग करना शुरू कर दिया था और उस दौरान उन्होंने कई छोटे ब्रांड के लिए भी मॉडलिंग की थी। फिर एक बार समांथा नायडू हॉल नाम के एक “लिंगरी ब्रांड” के लिए फोटोशूट करवा रही थी, तभी मशहूर फिल्म निर्माता रवि बर्मन की नजर उन पर पड़ गई। उस समय रवि वर्मन एक सिनेमैटोग्राफर के तौर पर काम किया करते थे। लेकिन काफी समय से वह डायरेक्शन के क्षेत्र में भी डेब्यू करना चाह रहे थे और अपनी इस पहली फिल्म के लिए उन्हें एक एक्ट्रेस की तलाश थी। जब उन्होंने समांथा को मॉडलिंग करते हुए देखा तो वह उनसे बहुत ही ज्यादा प्रभावित हुए और उन्होंने तुरंत ही समानता को फिल्म ऑफर कर डाली। समांथा फिल्मों की दुनिया में नई थी और उनके लिए इस तरह सामने से फिल्म का ऑफर आना किसी ख्वाब से कम नहीं था। इसीलिए उन्होंने तुरंत ही “मास्को बिन कावेरी” नाम की इस फिल्म को साइन कर दिया और इस तरह से उनका कैरियर मॉडलिंग से एक्टिंग की तरफ डायवर्ट हो गया।

इस फिल्म की शूटिंग साल 2007 में शुरू हो गई थी। लेकिन बजट की परेशानी के चलते इस फिल्म को पूरा होने में काफी ज्यादा समय लग गया। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर डायरेक्टर “गौतम मेनन” की नजर समांथा पर पड़ी और वह भी उनकी एक्टिंग से काफी प्रभावित हुए और उन्होंने समांथा को अपनी अगली फिल्म “यह माया चेसावो” ऑफर कर दी। समांथा ने भी बिना देर किए हुए तुरंत इस फिल्म को साइन कर दिया। इस तरह से अपने एक्टिंग डेब्यू करने से पहले ही समांथा को दो फिल्में मिल चुकी थी। इस दूसरी फिल्म में उनके साथ “नागा चैतन्य” मुख्य भूमिका में थे। यह नागा चैतन्य की भी करियर की दूसरी फिल्म थी और यह एक तेलुगु फिल्म थी। समांथा तेलुगु भाषा अच्छी तरह से बोलना नहीं जानती थी। शुरुआत में उन्हें डायलॉग और याद रखने में काफी दिक्कतें हुई लेकिन फिल्म के डायरेक्टर गौतम मेनन ने समांथा की काफी मदद की जिससे की शूटिंग बहुत ही कम समय में पूरी हो गई। समांथा के करियर की यह पहली फिल्म रिलीज होने वाली थी इसलिए इस फिल्म का हिट होना बहुत ही ज्यादा जरूरी था। यह फिल्म थिएटर में आने के बाद, उम्मीद से कहीं ज्यादा बड़ी हिट फिल्म साबित हुई । समांथा को उनकी बेहतरीन एक्टिंग के लिए फीमेल डेब्यू का “फिल्म फेयर अवार्ड” भी दिया गया।

बॉलीवुड में समांथा की फिल्म का रीमिक्स 2012 में “एक दीवाना था” नाम से बनाया गया और इस फिल्म को भी लोगों ने खूब पसंद किया। इस फिल्म के सुपरहिट हो जाने के बाद से समांथा को बड़े-बड़े एक्टर्स के सामने (Opposite) काम मिलना शुरू हो गया। उसके बाद वह “एनटीआर जूनियर” और “महेश बाबू” जैसे साउथ के सुपरस्टार के साथ “बृंदावनम” और “डूकुडू” नाम की दो फिल्मों में नजर आई। यह फिल्में भी उनकी पहली फिल्म की तरह ही सुपरहिट हुई थी।

अब समांथा एक कमाल की एक्ट्रेस बन चुकी थी लेकिन उन्हें उनके करियर की सबसे बड़ी कामयाबी साल 2012 में मिली। 2012 में उनकी दो बड़ी फिल्में “नी थाने एं पॉन्वसंतम” और “ईगा” रिलीज हुई थी। जिसमें ईगा तो एक तेलुगू फिल्म थी जिसको हिंदी भाषा में “मक्खी” नाम से रिलीज किया गया था। जबकि नी थाने एं पॉन्वसंतम” एक तमिल फिल्म थी और यह दोनों ही फिल्में उनके करियर की उस समय की सबसे बड़ी हिट साबित हुई थी। इन दोनों ही फिल्मों के लिए उन्हें “बेस्ट ऐक्ट्रेस” का फिल्म फेयर अवार्ड भी दिया गया। एक साथ ही उन्होंने तमिल और तेलुगु दोनो फिल्म इंडस्ट्री की “बेस्ट एक्ट्रेस” का अवार्ड जीत लिया था। यह कारनामा करने वाली वह साउथ की पहली एक्ट्रेस बन गई। इस बड़ी कामयाबी को हासिल करने के बाद से समांथा एक से बढ़कर एक बड़ी सुपरहिट तेलुगु फिल्मों में नजर आ चुकी है। और आज समांथा को साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की सबसे बेहतरीन एक्ट्रेस माना है।

समांथा ने साल 2017 में तेलुगू सिनेमा के फेमस एक्टर “नागा चैतन्य” से शादी कर ली। आज समांथा एक बेहद कामयाब एक्ट्रेस होने के साथ ही एक बहुत ही अच्छी इंसान भी हैं क्योंकि वह समय-समय पर जरूरतमंद लोगों के लिए दान करती है। इसके अलावा वह “प्रत्यूषा सपोर्ट” नाम का अपना एक “NGO” चलाती है जिसके जरिए वह जरूरतमंद महिलाओं और छोटे बच्चों की हर प्रकार से मदद करती हैं। साथ ही ब्रांड प्रमोशन के जरिए वह जितना भी पैसा कमाती है, वह सारा पैसा उनके “NGO” को दान कर दिया जाता है।